वक्फ बोर्ड

राजस्थान मुस्लिम वक्फ बोर्ड के मुतवल्ली कोटे के लिए 2 सीटों पर मंगलवार को मतदान हुआ. जिसमें भीलवाड़ा के शब्बीर अहमद शेख और अजमेर से सरवाड़ दरगाह के मोहम्मद यूसुफ का चुनाव किया गया है.

जयपुर. राजस्थान मुस्लिम वक्फ बोर्ड (Rajasthan muslim Waqf Board election) के मुतवल्ली कोटे से दो सदस्यों का चुनाव कर लिया गया है. वक्फ बोर्ड के मंगलवार को हुए चुनाव में मुतवल्ली कोटे से भीलवाड़ा के शब्बीर अहमद शेख और अजमेर से सरवाड़ दरगाह के मोहम्मद यूसुफ ने भारी अंतर से जीत हासिल कर ली है.

राजस्थान मुस्लिम वक्फ बोर्ड के मुतवल्ली कोटे के लिए 2 सीटों पर मतदान हुआ है. सुबह 11 बजे मतदान शुरू हुआ था, जो दोपहर को 3 बजे तक जारी रहा. इस दौरान प्रदेश की वक्फ कमेटियों से ताल्लुक रखने वाले जिम्मेदार महारानी स्कूल पहुंचे और वोट डालकर अपने उम्मीदवारों का चयन किया. मतदान को लेकर मतदाताओं में काफी उत्साह देखने को मिला.

प्रदेश के अलग-अलग इलाकों से बड़ी तादाद में लोग मतदान करने के लिए पहुंचे. मतदान केंद्र महारानी स्कूल में हुए मतदान के दौरान बुजुर्ग मतदाताओं को तकलीफ का सामना करना पड़ा. उनके लिए जिला प्रशासन की ओर अलग से कोई इंतजाम नहीं किए गए. मतदान खत्म होने के बाद मतगणना की गई.

चुनाव अधिकारी कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने वक्फ बोर्ड के चुनाव के परिणाम (Rajasthan muslim Waqf Board election result) का ऐलान किया. चुनाव में 177 में से 169 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया. इसमे से 158 वोट सही पाए गए और 11 रिजेक्ट हो गए.

यह भी पढ़ें. मोहर्रम के अवकाश पर नहीं होगी बोर्ड की परीक्षा, RBSE ने डेट में किया बदलाव

मुतवल्ली कोटे से हुए चुनाव में शब्बीर अहमद पहले स्थान पर रहे और उन्हें 64 वोट मिले. इसी तरह से दूसरे नंबर पर रहे अजमेर के मोहम्मद यूसुफ को 55 वोट हासिल हुए. तीसरे नंबर पर रहे शौकत कुरैशी को 29, चौथे नंबर पर रहे उस्मान कुरैशी को 6, पांचवें नंबर पर रहे फसिउद्दीन को 3 वोट और छठे नंबर पर रहे सदीक अहमद को एक वोट मिला. मतगणना के बाद कलेक्टर अतर सिंह नेहरा ने भी जीते हुए दोनों उम्मीदवारों को मुबारकबाद दी.

पहले नंबर पर रहे शब्बीर अहमद ने कहा कि वक्फ की संपत्तियां पूरी तरह से नीट और क्लीन हो और आमजन को इससे फायदा हो, ऐसा काम वो करेंगे. शब्बीर अहमद ने अपनी टीम को जीत का श्रेय दिया और कहा कि वे भीलवाड़ा में साढ़े पांच करोड़ की लागत से मेटरनिटी हॉस्पिटल बनवा रहे हैं. इसके अलावा भी उन्होंने कई काम भीलवाड़ा में किए हैं और उसी के आधार पर उन्होंने मतदाताओं से वोट मांगे हैं.

यह भी पढ़ें. अजमेर : दरगाह कमेटी के कर्मचारी ने की आत्महत्या, पत्नी ने सहायक नाजिम और कर्मचारी पर लगाए गंभीर आरोप

उन्होंने कहा कि आवाम यही चाहती थी कि वक्फ बोर्ड में कई सालों से जमे हुए लोगों को हटाया जाए. इसमें से आधा काम हो चुका है. मुतवल्ली कोटे से चुने गए दूसरे उम्मीदवार मोहम्मद यूसुफ ने जीत का श्रेय मतदाताओं को दिया और कहा कि उन्हें जो जिम्मेदारी दी गई है, उसका निर्वहन पूरी इमानदारी से करेंगे. वक्फ की संपत्तियों पर होने वाले अतिक्रमण को लेकर मोहम्मद यूसुफ ने कहा कि एक टीम वर्क के साथ अतिक्रमण को हटाने का काम किया जाएगा.

मोहम्मद यूसुफ ने कहा कि सरकार हमें चार पैसे भी नहीं देती हमें तो खुद ही कुआं खोदना पड़ता है और खुद ही पानी निकालना पड़ता है. एक अच्छी टीम बनाकर और अच्छे निर्णय लेकर हम वक्फ बोर्ड का भला कर सकते हैं. खुद पर लगे आरोपों को लेकर मोहम्मद यूसुफ ने कहा कि हमारे एक्ट में सब कुछ लिखा हुआ है. कलेक्टर भी उसकी सुनवाई करता है. आरोप लगाने वालों के आरोपों में कोई दम नहीं था. अगर ऐसा होता तो हमारा नामांकन ही रद्द हो जाता.

बता दें कि राजस्थान मुस्लिम वोट के विधायक कोटे से आदर्श नगर विधानसभा से विधायक रफीक खान, सांसद कोटे से पूर्व सांसद अश्क अली टाक और बार काउंसिल सदस्य से सैयद शाहिद हसन निर्वाचित हो चुके हैं. वक्फ बोर्ड के मुतवल्ली कोटे के चुनाव के लिए मतदाताओं को बाड़ाबंदी में भी रखा गया था और बसों के जरिए उन्हें मतदान केंद्र पर एक साथ लाया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *