राजस्थान

सादर प्रकाशनार्थ :-

जयपुर, 06 सितम्बर। राजस्थान के 6 जिलों में सम्पन्न हुए पंचायत राज चुनावों में 78 पंचायत समितियों में से 50 पंचायत समितियों में कांग्रेस पार्टी के प्रधान निर्वाचित हुए हैं तथा 6 जिला परिषद् में से 3 जिला परिषद् में कांग्रेस पार्टी के जिला प्रमुख निर्वाचित हुए हैं, यह परिणाम कांग्रेस एवं कांग्रेस कार्यकर्ताओं के लिये न सिर्फ उत्साहवर्धक है बल्कि कार्यकर्ताओं द्वारा किये गये अथक् परिश्रम से प्राप्त संतोषजनक परिणाम है।

उक्त विचार राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा ने आज प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय, जयपुर पर आयोजित प्रेसवार्ता को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि जिला परिषद् के लिये सम्पन्न हुए चुनावों में कांग्रेस के 99 प्रत्याशी विजयी हुए हैं जबकि भाजपा के 90 प्रत्याशी विजय पा सके हैं। उन्होंने कहा कि 6 जिलों की 78 पंचायत समितियों में से 9 प्रधान निर्विरोध चुने गये हैं ये सभी कांग्रेस पार्टी से हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा के 25 प्रधानों में से 10 प्रधान मात्र एक वोट के अंतर से विजयी हुए हैं, यदि एक वोट कम रह जाता तो भाजपा 15 पंचायत समितियों में ही प्रधान बना पाती। उन्होंने कहा कि 22 पंचायत समितियां ऐसी हैं जहॉं पिछली बार भाजपा का बोर्ड था, किन्तु इन पंचायत समितियों में कांग्रेस ने इस बार अपना बोर्ड बनाया है। उन्होंने कहा कि जयपुर में कुल 22 पंचायत समितियों में से 13 पंचायत समितियों में कांग्रेस पार्टी के प्रधान विजयी हुए हैं तथा केवल 9 पंचायत समितियों में भाजपा अपने प्रधान जिता सकी है। उन्होंने कहा कि जयपुर जिले की कुल पंचायत समितियों में कांग्रेस को भाजपा के मुकाबले 11000 से अधिक मतों की बढ़त मिली है। उन्होंने कहा कि भरतपुर में 12 में से 10 पंचायत समितियों में कांग्रेस के प्रधान विजयी हुए हैं तथा एक कांग्रेस समर्थित विजयी हुआ है। इसी प्रकार दौसा में 11 में से 10 पंचायत समितियों में कांग्रे्रस के प्रधान चुने गये हैं तथा जोधपुर की 21 पंचायत समितियों में से 12 पंचायत समितियों में कांग्रेस प्रधान बने हैं।

डोटासरा ने कहा कि जयपुर जिला परिषद् में बहुमत होने के बावजूद हमारी पार्टी के कुछ साथियों द्वारा पार्टी के साथ धोखा करने के कारण जिला प्रमुख नहीं बन सका। उन्होंने कहा कि भाजपा, आरएसएस, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह की नीति लोकतंत्र पर डाका तथा प्रजातंत्र का चीर हरण करने की रही है, धन बल, बाहुबल और भ्रष्टाचार के माध्यम से साम-दाम-दण्ड-भेद अपानकर सत्ता हासिल करने की शिक्षा आरएसएस की पाठशाला में भाजपा नेताओं को दी जाती है जिसका सबसे ज्वलंत उदाहरण आज जयपुर जिला प्रमुख हेतु सम्पन्न हुए चुनाव में देखने को मिलता है। उन्होंने कहा कि हमारी ही पार्टी के कुछ लोगों ने पीठ में छुरा घोंपने तथा विश्वासघात करने का कृत्य किया है, किन्तु जनता सब देख रही है। महाराष्ट्र, कर्नाटक, मध्यप्रदेश, गोवा में भाजपा यही कृत्य कर चुकी है, किन्तु राजस्थान में लोकतंत्र का चीर हरण करने में भाजपा नेता सफल नहीं हुए थे लेकिन जयपुर जिला परिषद् के चुनाव में उनकी यह अनीति सफल रही।

उन्होंने कहा कि भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष लगातार भाजपा को मिल रही हार से व्यथित एवं परेशान है जो आज प्रजातंत्र का गला घोंटकर जयपुर जिला परिषद् में कांंग्रेस के दो सदस्यों को तोडक़र अपना जिला प्रमुख बना लेने से अपनी इस वेदना को नकली हंसी एवं छद्म खुशी से छुपाने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि छोटे से छोटे राजनैतिक व्यक्ति को मुख्यमंत्री जैसे गरिमामय पद के लिये असंसदीय भाषा का इस्तेमाल करने की अपेक्षा नहीं की जाती है, किन्तु स्वास्थ्य लाभ ले रहे मुख्यमंत्री महोदय के विरूद्ध भाजपा प्रदेशाध्यक्ष द्वारा की गई अमर्यादित टिप्पणी उनकी बौखलाहट एवं संकीर्ण मानसिकता को दर्शाने वाली है।

उन्होंने कहा कि जोधपुर में कांग्रेस की जीत के पश्चात् भी हार बताने वाले भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष एवं अन्य नेता शायद छद्म खुशी दिखाकर अपनी मायूसी छुपाने का असफल प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पंचायत चुनावों में 78 पंचायत समितियों में से 49 पंचायत समितियों में कांग्रेस के प्रधान बनने तथा एक में कांग्रेस समर्थित प्रधान बनने के बावजूद भाजपा के नेता मिठाई बांट रहे हैं जो समझ से परे है। उन्होंने कहा कि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने जोड़-तोड़ से अपने विधानसभा क्षेत्र में बमुश्किल दो पंचायत समितियों में प्रधान जितवा लिये उसके बहाने प्रदेश में मिली करारी हार से उपजी बौखलाहट को लड्डू बांटकर छुपाने का प्रयास कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि राजस्थान की जनता ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा किये गये कार्यों, कांग्रेस संगठन द्वारा जनता की सेवा हेतु की गई अथक् मेहनत तथा आलाकमान द्वारा दिये गये मार्गदर्शन पर प्रदेश की जनता ने मोहर लगाते हुए कांग्रेस पार्टी को भारी बहुमत से विजय प्रदान की है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी को चुनावों में विजयी बनाने के लिये राजस्थान की जनता तथा 6 जिलों के मतदाताओं की कांग्रेस आभारी है तथा कांग्रेस के समस्त कार्यकर्ता धन्यवाद के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि इन पंचायत समितियों के नतीजे कांग्रेस पार्टी के लिये नये उत्साह का संचार करेंगे, किन्तु भाजपा के लिये यह नतीजे निराशाजनक हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी की राजस्थान की जनता की सेवा एवं विकास के लिये इसी प्रकार कार्य करती रहेगी तथा कांग्रेस कार्यकर्ता राजस्थान की जनता को राहत प्रदान करने एवं उनकी सेवा करने के लिये तन-मन के साथ जुटे रहेंगे।


For More Daily Updates Visit Our Facebook Page.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *