दिल्ली

अशोक गहलोत ने देश के हालात बताए गंभीर, कार्यकर्ताओं को लड़ाई के लिए तैयार रहने का किया आह्वान

नई दिल्ली। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने देश के हालात को विषम बताते हुए कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को लोकतांत्रिक व्यवस्था और उसके मूल्यों को बचाए रखने के लिए संघर्ष के लिए तैयार रहने का आह्वान किया है। आज नई दिल्ली में महंगाई के खिलाफ आयोजित हल्लाबोल रैली में अशोक गहलोत ने कहा कि पूरे देश के जो हालात हैं वो इतने चिंताजनक हैं कि कोई सोच नहीं सकता, संविधान की धज्जियां उड़ रही हैं, लोकतंत्र खतरे के अंदर है।

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 2014 के चुनाव कैंपेन के वायदों का उल्लेख करते हुए कहा कि वे तमाम बातें भूल गए। उन्होंने कहा कि उस वक्त की हमारी सरकार के वक्त में अन्ना हजारे और अरविंद केजरीवाल ने जो आंदोलन किए वो हमारे खिलाफ षडयंत्र था। उन्होंने कहा कि उस समय यूपीए सरकार में शानदार काम हो रहा था।

कानून बना कर लोगों को अधिकार दिए गए, लेकिन घोटालों के आरोप लगा कर उनके षड्यंत्रों से सरकार को बदनाम करने की कोशिश की गई, उसमें वो कामयाब हो गए। उन्होंने देश के हालात का जिक्र करते हए कहा कि महंगाई ने देशवासियों की कमर तोड़ दी है और बेरोजगारी का तो हाहाकार मच गया है। गहलोत ने आरोप लगाया कि इस सरकार की कथनी और करनी में अंतर है, ये सरकार लोकतंत्र का मुखौटा पहने हुए है, लोकतंत्र के अंदर इनका कोई यकीन नहीं है।

गहलोत ने कहा कि ये फासिस्टी लोग हैं और धर्म के नाम पर राजनीति कर रहे हैं, देश को बर्बाद कर रहे हैं। उन्होंने सरकारी एजेंसियों के दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए कहा कि आज लोग चिंतित हैं, बोल नहीं पा रहे हैं, एजेंसियों का दुरुपयोग कर रहे हैं ईडी का, सीबीआई का, इनकम टैक्स का, आतंक मचा रखा है।

गहलोत ने कहा कि देश के हालात बड़े गंभीर हैं, राज्यों के साथ में नाइंसाफी हो रही है, एक्साइज मिलती थी, पहले राज्यों को हिस्सा मिलता था पेट्रोल में, डीजल में, गैस में वो हिस्सा बंद कर दिया है।

गहलोत ने कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि ये तो शुरुआत है, आगे लड़ाई लंबी है। उन्होंने राहुल गांधी की कन्याकुमारी से कश्मीर तक की यात्रा का जिक्र करते हुए कहा कि इससे पूरे देश के अंदर एक जलजला पैदा होगा, आप लोग भी अपने अपने जिले में, ब्लॉक में जहां संभव हो वहां पदयात्रा कीजिए।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के साथ में एकजुटता दिखाने के लिए हमें लगातार जिलों में, ब्लॉक में कोई न कोई प्रोग्राम करने हैं, यात्रा एक रूट से चलेगी, एक मैसेज जाएगा कि भारत जोड़ो यात्रा की जरूरत क्यों और इसका नाम भारत जोड़ो क्यों दिया गया? गहलोत ने कहा कि आज नफरत का माहौल है, तनाव का माहौल है, हिंसा का माहौल है, ऐसे में देश में शांति, सद्भाव, भाईचारा कायम रखने की जरूरत है।

गहलोत ने देश के विकास में जवाहरलाल नेहरु से लेकर मनमोहनसिंह तक के योगदान का जिक्र करते हुए कहा कि आज दुनिया में देश की जो पहचान बनी है, उसमें उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है। उन्होंने कांग्रेस पर वंशवाद के आरोपों को सिरे से नकारते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी गांधी परिवार की बात करते हैं, वंशवाद की बात करते हैं, उनको पूछो कि इस परिवार का एक भी मेंबर पिछले 30 साल में न प्राइम मिनिस्टर बना, न केंद्रीय मंत्री बना, न कोई पद लिया हो, अगर संगठन में उनकी भागीदारी है, पूरा देश चाहता है, देश के कांग्रेसजन चाहते हैं तो समझ जाइएगा कि देश में इस परिवार की क्रेडिबिलिटी हाईएस्ट है।

गहलोत ने आने वाले दिनों को चुनौतीपूर्ण बताते हुए पार्टी के कार्यकर्ताओं को लोकतंत्र की इस लड़ाई में मजबूती के साथ पूरा भागीदार बनने का आह्वान करते हुए कहा कि अंतिम विजय सत्य की ही होगी और सत्य आपके पक्ष में है।

Previous Post: मलिंगा ने सांसद पर लगाया दिखावा करने का आरोप


For More Updates Visit Our Facebook Page

Follow us on Instagram | Also Visit Our YouTube Channel

अशोक गहलोत ने देश के हालात बताए गंभीर, कार्यकर्ताओं को लड़ाई के लिए तैयार रहने का किया आह्वान

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × four =

Back to top button